हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों ने ब्रिगेडियर और कर्नल को रोका, जमकर हुई कहासुनी

जबलपुर।

हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों ने वरिष्ठ गुणवत्ता आश्वासन प्रतिष्ठान(sqae)के ब्रिगेडियर और कर्नल के काफिले को रोक कर उनके ही सामने जमकर नारेबाजी की।इस दौरान सेना के अधिकारी और कर्मचारी आमने-सामने आ गए।फैक्टरी के अंदर जाने को लेकर डीएससी गेट पर आधे घंटे तक ब्रिगेडियर और कर्मचारी नेताओ की बहस होती रही।सेना के अधिकारी जहाँ अपने साथ कर्मचारियों को फैक्ट्री ले जाने की कोशिश करते रहे तो वही हड़तालकर्मी भी अपनी जिद पर अड़े थे।

कर्मचारियों का आरोप है sqae के ब्रिगेडियर बीके पांडेय और कर्नल जग्गनाथ झा जबरन अपने साथ विभाग के कर्मचारियों को बस में बैठाकर ले जा रहे थे जबकि कर्मचारी हड़ताल में साथ देने को तैयार थे।इधर सेना के अधिकारी और कर्मचारियों का विवाद होते देख पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा।करीब आधे घंटे तक हुई बहस के बाद फैक्टरी के अंदर सिर्फ अधिकारियों को जाने मिला जबकि कर्मचारियों को फैक्टरी के बाहर से वापस घर भेज दिया गया।

गौरतलब है कि निगमीकरण को लेकर देशभर के सुरक्षा संस्थान आज से 1 माह की हड़ताल पर चले गए हैं।जबलपुर में भी इसका असर देखा जा रहा है।जिले की ऑडनेंस फैक्ट्री खमरिया, गन कैरिज फैक्ट्री,व्हीकल फैक्ट्री जबलपुर सहित ग्रे आयरन फाउंड्री फैक्ट्री के कर्मचारी भी आज हड़ताल पर थे।हालांकि कुछ कर्मचारी जरूर फैक्ट्री के अंदर जाने की कोशिश कर रहे थे जिन्हें गेट पर खड़े कर्मचारियों ने रोका।बताया जा रहा है कि कल रक्षा सचिव ने चारों यूनियन के पदाधिकारियों को बातचीत के लिए बुलाया था पर दो यूनियन हड़ताल को लेकर किसी भी तरह से रक्षा सचिव से बात करने को तैयार नहीं थी लिहाजा कल होने वाली बैठक स्थगित हो गई जो कि आज होने की उम्मीद है।

"To get the latest news update download tha app"