गृह मंत्री ने केंद्र सरकार ने मांगे दो हज़ार करोड़, शिवराज पर किया पलटवार

भोपाल। मध्य प्रदेश में बाढ़ और भारी बारिश से करीब दस हज़ार करोड़ का नुकसान हुआ है। केंद्र सरकार का एक दल इस नुकसान का सर्वे करने भी आने वाला है। लेकिन इस बीच प्रदेश में बाढ़ प्रभावितों को मदद पहुंचाने से पहले ही सियासत शुरू हो गई है। प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने केंद्र सरकार से दो हज़ार करोड़ तत्काल जारी करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से हमें राहत राशि चाहिए। प्रदेश में बाढ़ से करीब दस हज़ार करोड़ का नुकसान हुआ है।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान पर भी पलटवार किया। उन्होंने कहा कि, मंदसौर में शिवराज सिंह ने कहा कि 1 हजार करोड़ केंद्र ने सहायता के लिए दिए है बाद में शिवराज सिंह अपने बयान से पलट गए। हम तो केंद्र और प्रदेश में बीजेपी से भी मदद मांग रहे हैं। केंद्र सरकार ने प्रदेश में हमारी कई योजनाओं की राशि रोक दी है। जिस वजह से योजनाएं प्रभावित हो रही हैं। इसमें राष्ट्रीय फस बीमा योजना की राशि भी शामिल है। राहत के लिए हमारी सरकार हर मदद के लिए तैयार है। हम बाढ़ पीड़ितों के साथ खड़े हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र ने 6 हजार करोड़ रुपये एमपी का अब तक रोका हुआ है। प्रदेश का केंद्र से मिलने वाले हिस्से में शिवराज सबसे बड़े रोड़ा के रूप में सामने आ रहे है। उन्होंने कहा कि शिवराज की कथनी और करनी में बहुत अंतर है इसलिए वह किसानों को भ्रमित करना छोड़ दें। 

एक सवाल का जबाब देते हुए बाला बच्चन ने कहा कि अकेले शिवराज एमपी के विकास में बाधक नहीं है बल्कि भाजपा के सभी सांसद मिलकर कांग्रेस सरकार के कामों में बाधा पहुंचा रहे है। प्रधानमंत्री सड़क योजना में जहाँ केंद्र सौ फीसदी हिस्सेदारी देता था लेकिन अब चालीस फीसदी दे रहा है।

"To get the latest news update download tha app"