चौरसिया हत्याकांड: BSP विधायक के पति की गिरफ्तारी की मांग, आज से अनशन पर पूरा परिवार

दमोह/ हटा

कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड को लेकर एक बार फिर सियासत गर्मा गई है। एक तरफबसपा विधायक रामबाई अपने पति गोविंद सिंह की बेगुनाही के लिए विधायकों का समर्थन जुटा रही हैं। एसआईटी गठित कराने की मांग कर रही हैं, वही दूसरी तरफ  देवेंद्र चौरसिया के बेटे सोमेश चौरसिया ने गोविंद सिंह की गिरफ्तारी की मांग की है। इसके लिए पूरा परिवार आज अनशन पर बैठने जा रहा है।

दरअसल, देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड में बसपा विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह का नाम पुलिस द्वारा हटाए जाने के विरोध में पुत्र सहित पूरा परिवार सोमवार से बस स्टैंड परिसर में भूख हड़ताल पर बैठेगा। पीड़ित परिवार ने इसकी सूचना एसडीएम कार्यालय और टीआई को दे दी है। पुलिस के इस फैसले से परिजनों में आक्रोश व्याप्त है। परिजन गोविंद सिंह का नाम एफआईआर से न हटाने, पुर्न जांच के आवेदन को निरस्त करने के साथ गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हैं।बेटे सोमेश का कहना है कि यदि पुलिस प्रशासन ने गोविंद सिंह को गिरफ्तार नहीं करता है तो वे परिवार सहित अनिश्चित कालीन धरना भूख हड़ताल करने को मजबूर हो जाएंगे। जिसकी पूरी जवाबदारी सरकार और प्रशासन की होगी।

ये है पूरा मामला

इसी साल मार्च में दमोह जिले के हटा में कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या हो गई थी। हत्या का आरोप पथरिया से बसपा विधायक रमाबाई के पति गोविंद सिंह समेत 7 लोगों पर लगा था। कांग्रेस नेता के परिजनों ने पथरिया विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह और जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल के पुत्र इंद्रपाल पर हत्या का आरोप लगाया। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने रमाबाई के पति गोविंद सिंह, देवर कौशलेंद्र सिंह, भतीजा गोलू सिंह, श्रीराम शर्मा, अमजद पठान, लोकेश सिंह और जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल के बेटे इंद्रपाल पटेल के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की की थी। मामले में विधायक के कुछ रिश्तेदार अभी जेल में हैं। वही हत्याकांड में गोविंद सिंह की भूमिका को संदिग्ध माना और उन पर आरोप सिद्ध प्रतीत नहीं होने पर पुलिस ने उनके खिलाफ कोर्ट में चालान पेश नहीं किया। इसके अलावा 25 हजार रुपए का इनाम भी निरस्त कर दिया है। अब इस मामले की नए सिरे से जांच की जा रही है। 

"To get the latest news update download tha app"