अब पूर्व मंत्री ने अवैध उत्खनन पर सरकार को घेरा, कमलनाथ को दी ये नसीहत

भोपाल/इंदौर।

सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश की कमलनाथ सरकार किसी ना किसी मुद्दे को लेकर विपक्ष के निशाने पर है। इन दिनों अवैध उत्खनन सरकार के लिए गले की हड्डी बना हुआ है, विपक्ष में रहकर कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर सड़क से लेकर सदन तक शिवराज सरकार की घेराबंदी करती थी लेकिन अब कभी अपनों से तो कभी विपक्ष से घिर रही है। कैबिनेट मंत्रियों, विधायकों और कांग्रेस के दिग्गज नेता सिंधिया के बाद अब पूर्व मंत्री और वर्तमान भाजपा विधायक अजय विश्नोई ने अवैध उत्खनन को लेकर सवाल उठाए है।

इतना ही नही इसके लिए उन्होंने इसके लिए सीएम कमलनाथ को पत्र भी लिखा है और नसीहत देते हुए लिखा है कि रेत के अवैध खनन, भंडारण या फिर बिक्री पर रोक लगाने में कोई भी सरकार मुकम्मल सफल नहीं हो पाई है, इसका अगर कोई इलाज है तो वह सिर्फ रेत की दरों को सस्ता करना है। विश्नोई के मुताबिक सरकार अगर रेत के दाम गिरा दे और इतनी सस्ती कर दे कि इसकी उपलब्धता सहज हो तो रेत खनन के साथ अवैध शब्द हट सकता है ।

वही कैबिनेट मंत्रियों और कांग्रेस विधायकों की तरह पूर्व मंत्री ने भी आरोप लगाया है कि वर्तमान सरकार के लोग खुद इस काम में लिप्त हैं, उन पर एक्शन लिया जाना चाहिए।अगर ऐसा ही चलता रहा तो अवैध उत्खनन को और बढ़ावा मिलेगा। बता दे कि विश्नोई अवैध उत्खनन को लेकर शिवराज सरकार को भी कई बार पत्र लिखकर इस पर रोक लगाने की बात कह चुके है। 

गौरतलब है कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होने के बावजूद भी अवैध उत्खनन पर रोक नही लग पाई है।बीते दिनों कैबिनेट मंत्री ने खुद ने माना था कि उनकी सरकार इसे रोकने में सफल नही हो पाई है  और विधायकों ने भी अपनी ही सरकार का घेराव किया था और अधिकारियों के इसमें लिप्त होने की बात कही थी । हाल ही में सिंधिया ने भी ट्वीटर के माध्यम से सरकार को इस पर रोक लगाने की चेतावनी दी थी। जिसके बाद से ही विपक्ष की भूमिका अदा कर रही बीजेपी ने भी मुद्दे को लपकते हुए सरकार का घेराव शुरु कर दिया है। खैर अब देखना है कि सरकार इससे कैसे और कब तक उभर पाती है।

"To get the latest news update download tha app"