एमपी में दो सगी बहनों की पानी में डूबने से मौत, पिता ने दौड़कर एक को बचाया

खरगोन

मध्यप्रदेश के खरगोन में सोमवार शाम दर्दनाक हादसा हो गया ।यहां  गहरे वाटर पौंड में नहाने के दौरान दो सगी बहनं की डूबने से मौत हो गई। गनिमत रही कि सही समय पर पिता पहुंच गया और  दौड़कर एक को सुरक्षित बचा लिया। ग्रामीणों की सूचना पर डायल 100 मौके पर पहुंची। पुलिस ने  पंचनामा बनाकर दोनों शवों का पीएम करवाकर परिजनों को सौंप दिया।परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाया है, जबकी चौकी प्रभारी के मुताबिक डूबने से मौत हुई है।

घटना सेल्दा पावर प्लांट से खामखेड़ा रोड की है।यहां सोमवार शाम 4 बजे को भट्टयाण खुर्द निवासी आदिवासी परिवार रुगन भूरिया व गबु भुरिया के चार बालक-बालिकाएं बकरी चराने गांव से 1 किलोमीटर दूर गए थे। सड़क किनारे 10 फीट गहरे वाटर पौंड में दिव्या पिता रुगन (12) कक्षा छठी, कामिनी रुगन (10) कक्षा चौथी व साहू उर्फ सावित्री गबू (10) व सुकराम पिता गबु (8) नहाने लगे। कुछ देर बाद गहरे पानी में जाने से दिव्या, कामिनी व साहू डूबने लगे। बच्चों की चीख पुकार मचने लगी। आवाज सुनकर सुकराम ने दौड़कर पास में खेत पर काम कर रहे पिता को गबू भूरिया को सूचना दी। गबू दौड़कर घटनास्थल पहुंचा। साहू को गहरे पानी में से सुरक्षित निकाल लिया। दिव्या व कामिनी के गहरे पानी में से निकालने में समय ज्यादा होने से दोनों की मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि भट्याण खुर्द पंचायत ने जल संरक्षण के लिए तीन फीट गहरा पौंड बनाया था। सड़क निर्माण व निजी उपयोग के लिए अवैध उत्खननकर्ताओं ने उसे 10 फीट तक गहरा कर दिया। उसमें 7 फीट तक पानी भर गया था, जिसमें दोनों बहनों की डुबने से मौत हो गई।

"To get the latest news update download tha app"