शिवराज के बाद अब साध्वी प्रज्ञा ने नेहरू लेकर दिया विवादास्पद बयान, मचा हड़कंप

भोपाल।

केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू भाजपा नेताओं के निशाने पर हैं। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बाद अब भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने नेहरू को अपराधी बताया है। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शिवराज सिंह के बयान का समर्थन करते हुए कहा है कि जिसने भी देश को खंडित किया है वो अपराधी है। ठाकुर के बयान के बाद फिर सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस में हड़कंप मच गया है।

दरअसल, आज मीडिया से चर्चा के दौरान प्रज्ञा ने कहा कि जब भारतीय सुरक्षाबल पाकिस्तानी कबीलाई लड़ाकों को पीछे ढकेल रहे थे तो ऐसे वक्त में सीजफायर की घोषणा करने वाले नेहरू एक 'अपराधी थे।साध्वी प्रज्ञा ने अपने बयान में कहा कि इसके बाद जो देशभक्त हैं उनकी श्रेणी अलग हो चुकी है।देशभक्त उल्लास मना रहे हैं और जो रो रहे हैं वह देश भक्त तो हो ही नहीं सकते। धारा 370 और 35 ए हटने पर जो लोग खुश हैं, हमारे देश पर गर्व कर रहे हैं, जो लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर गर्व कर रहे हैं वह देशभक्त हैं। यह परिभाषा इस बार सिद्ध हो गई है कि कौन देश के साथ है और कौन देश के विरुद्ध है'।मालेगांव धमाकों की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने की आलोचना करने वाले देशभक्त नहीं हो सकते।


दिग्विजय पर भी साधा निशाना

कश्मीर से धारा 370 हटने पर दिग्विजय सिंह के विरोध पर भी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बयान दिया। आपको बता दें कि हाल ही में भोपाल संसदीय सीट से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने दिग्विजय सिंह को करारी शिकस्त दी है। दिग्विजय सिंह पर साध्वी ने कहा कि 'हम तो चुनाव इसलिए लड़े थे कि राष्ट्र धर्म के लिए काम करने वाले लोगों को बीच में आना चाहिए। वहीं जनता ने उन लोगों को बिल्कुल नकार दिया है जिन्हें यहां नहीं होना चाहिए। 

गौरतलब है कि बीते दिनों शिवराज सिंह ने कहा था कि 'मैने तथ्यों के साथ बात करता हूं, और सच ये है कि नेहरू जी से अपराध हुआ है। शेख अब्दुल्ला से नेहरू जी का इतना प्रेम क्यों था मैं नहीं जानता। लेकिन शेख अब्दुल्ला के कहने पर ही उन्होंने कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया था। नेहरू जी पर एक इल्जाम लगाते हुए शिवराज सिंह ने कहा कि एक और अपराध पंडित जी ने तब किया था, जब भारतीय फौज लाहौर में दुश्मन को खदेड़ रही थी और उन्होंने युद्ध विराम कर दिया था'।




"To get the latest news update download tha app"