VIDEO: यहां जन्माष्टमी पर जब कोई तोड़ न सका मटकी तो.... 8 फीट नीचे खिसकाई

भिंड ।गणेश भारद्वाज।

जन्माष्टमी के पावन पर्व पर नगर पालिका भिंड के द्वारा 121000 की इनामी मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। 32 फिट की ऊंचाई पर टंगी  इस मटकी को रात 12 बजे तक तमाम टीमों के द्वारा जब नहीं तोड़ा जा सका तो क्रमशः 3 बार में मटकी को 8 फीट नीचे लाया गया, तब कहीं जाकर दबोहा मोड़ की गोविंदाओंं कि टीम ने मटकी को फोड़ने में सफलता प्राप्त की।  इस टीम के मुख्य गोविंदा श्यामवीर ने जब मटकी की रस्सी पर हाथ डाले और स्वयं रस्सी पर झूल गए तो पूरा खंडा रोड बंसी वाले की जय... और नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की... के नारों से गूंज उठा।

बीती रात जन्माष्टमी के अवसर पर भिंड नगरपालिका द्वारा आयोजित 1 लाख 21हजार की  मटकी फोड़ प्रतियोगिता का भव्य और ऐतिहासिक आयोजन शहर के बीचो-बीच खंडा रोड पर किया गया। इस आयोजन में जिलेभर की करीब एक दर्जन गोविंदाओं की टीम ने भाग लिया, सभी टीमों ने भारी मशक्कत की रात 9 बजे से शुरू हुई मटकी फोड़ प्रतियोगिता आधीरात बाद 1 बजे के बाद संपन्न हो सकी, जब निश्चित ऊंचाई पर लटकाई  गई मटकी को कोई भी गोविंदाओं का दल नहीं तोड़ सका तो कमेटी ने मटकी को तीन बार में क्रमश 8 फुट नीचे करने का निर्णय लिया और उसके बाद एक पल्लवी नामक पांच वर्षीय बच्ची से पर्ची उठाकर तीन दलों पुर, दबोहा मोड़ और सुंदर पुरा के पल्लेदारों की टीम को आमंत्रित किया।  जिस पर दबोहा मोड़  की टीम ने मटकी फोड़ने में सफलता प्राप्त की। इस टीम के गोविंदा बने श्यामवीर ने बड़े ही आकर्षक अंदाज में मटकी फोड़ी । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बसपा के सदर विधायक संजीव सिंह कुशवाह और एसपी रुडोल्फ अल्वारेस, नपाध्यक्ष पति वीरेंद्र मिहोलिया, नपा उपाध्यक्ष रामनरेश शर्मा व पूर्व उपाध्यक्ष  अजीत सिंह भदौरिया, कांग्रेसी नेता रामहर्ष सिंह, कांग्रेस नेत्री द्वय श्रीमती रेखा भदौरिया, स्नेह लता जैन मंचासीन रही। इस अवसर पर नगर पालिका के प्रभारी सीएमओ सुल्तान सिंह नरवरिया, लेखाधिकारी आनंदपाल सिंह चौहान, राजेन्द्र श्रीवास्तव,  स्वच्छता निरीक्षक रविंद्र पाल सिंह भदौरिया, विश्वनाथ कुशवाह व प्रबल शाक्य सहित तमाम अधिकारी कर्मचारी व पार्षद गण भी मौजूद रहे। अंत में अतिथियों ने  विजेता टीम को एक लाख 21 हजार का चेक और ट्रॉफी प्रदान की। जन्माष्टमी के इस पावन पर्व पर वृंदावन से आई नृत्यलीला का भी आनंद कृष्ण भक्तों के द्वारा उठाया गया। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता जाने-माने कवि सुनील कांत त्रिपाठी व गणेश भारद्वाज के द्वारा किया गया।

अवंतीबाई पुर की टीम का रहा शानदार प्रदर्शन

प्रतियोगिता में शामिल हुई इस वर्ष लहार की विजेता अवंतीबाई पुर गांव की गोविंदा की टीम का प्रदर्शन बेहद आकर्षक रहा। 12 बजे के पहले ही एक बार पूरी टीम के गोविंदा मुलायम नरवरिया का हाथ मटकी से एक या 2 फुट नीचे ही रह गया था। लेकिन दुर्भाग्यवश पूरा पिरामिड लड़खड़ा गया और फिर से टीम दोबारा सफलता हासिल नहीं कर सकी। सुंदरपुरा की पल्लेदारों की टीम ने भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया। यह टीम गत वर्ष की विजेता टीम थी।

पुलिस और स्वयंसेवकों का रहा अच्छा योगदान

पुलिस अधीक्षक रुडोल्फ अल्वारेस जहां कार्यक्रम में पूरे समय मौजूद रहे वहीं सुरक्षा व्यवस्था के लिए करीब 5 थानों के प्रभारियों सहित 50 पुलिसकर्मी यहां तैनात किए गए थे जो की सुरक्षा व्यवस्था के लिए चप्पे-चप्पे पर नजर गड़ाए हुए थे इसके अलावा आयोजक टीम के स्वयंसेवक मनोज सिंह, गुड्डू सरपंच, राहुल सिंह कुशवाह, कल्लू सिकरवार, प्रभात सिंह राजावत, शक्ति सिंह, रिशु भदौरिया व मोंटी राजावत आदि आधा सैकड़ा युवाओं की टीम ने कार्यक्रम को सफल बनाने में जमकर मेहनत की।



"To get the latest news update download tha app"