जब आधी रात को इस अंदाज में मिले जयवर्धन और भार्गव, चर्चा का विषय बनी मुलाकात

भोपाल| राजनीति में एक दूसरे के विरोधी माने जाने वाले नेता जब सार्वजानिक रुप से सजहता के साथ मुलाक़ात करते हैं, तो यह मुलाकात चर्चा का विषय बन जाती है| ऐसा ही हुआ जब गढ़ाकोटा बस स्टैंड पर भाजपा के दिग्गज नेता व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री जयवर्धन सिंह की मुलाकात हुई| आधी रात को हुई इस मुलाक़ात के फोटो वायरल होते ही सियासी गलियारों में चर्चा शुरू हो गई| जैसे लोकसभा चुनाव के पहले नेता प्रतिपक्ष के पुत्र दीपू भार्गव की दिग्विजय सिंह से मुलाकात की तस्वीरें चर्चा का विषय बन गई थी 

दरअसल शुक्रवार रात को सागर के गढ़ाकोटा बस स्टैंड पर बड़ी हलचल देखने को मिली| गोपाल भार्गव जब बस स्टैंड पर अपने साथियों के साथ बैठे थे, तभी वहां से नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह का काफिला गुजर रहा था। जयवर्धन सिंह ने देखा कि नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव बस स्टैंड पर बैठे नजर आ रहे हैं, तो उन्होंने अपना काफिला तुरंत रुकवाया और उनके पास पहुंच गए।  दमोह से देर रात भोपाल के लिए रवाना हुए मप्र के नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह कुछ देर के लिए गढ़ाकोटा में रुके थे। जहाँ उनके स्वागत सत्कार के लिए पुराने बस स्टैंड पर एनएसयूआई और युवक कांग्रेस के नेता इंतजार कर रहे थे। इसके पूर्व मंत्री श्री जयवर्धन गढ़ाकोटा के नए बस स्टैंड पहुंच गए। 

जहां पूर्व मंत्री और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव से जयवर्धन सिंह ने गर्मजोशी के साथ मुलाकात की। जयवर्धन भी अपने विरोधियों से भी विनम्र स्वभाव से मिलते रहे हैं| पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह ने भार्गव के चरण छूकर आशीर्वाद लिया। दोनों साथ बैठे और ढेर सारी बातें कीं।  इस दौरान काफी देर तक ठहाके भी लगते रहे। यह नजारा देख बस स्टैंड पर काफी लोग एकत्र हो गए थे, वे दोनों नेताओं को कैमरे में कैद करने लगे और सेल्फी लेने लगे। वहीं   यह मुलाकात पूरी तरह से राजनीतिक शिष्टाचार और एक सीनियर और जूनियर नेता के बीच की मुलाकात थी। लेकिन इसकी फोटो वीडियो वायरल होते ही राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया|